Monday, February 9, 2009

यादें न जायेंगी !!



यादें न जायेंगी

हम चले जायेंगे

यादों की खुशबू से

मन महकाएँगे ।

जब हम न होंगे

राहों में तेरे

कोई निशा जब

नही होंगे मेरे ।

तेरी निगाहे जब

धुधेंगी मुझको

धड़कन भी तेरी

जब पूछेगी मुझको ।

कैसे समझाओगे

ख़ुद को बहलाओगे

यादों के आँचल में

मुझको तुम पाओगे ।

यूं ही नया गीत

गाता मिलूंगा

यादों में तेरे मै

हर पल रहूँगा ।

----------------------------------------------------------------------------
कृपया इस ब्लॉग..
dev-palmestry.blogspot.com/
पर भी इक नजर डाले.

-----------------------------------------------------------------------------

21 comments:

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुंदर कविता.
धन्यवाद

विनय said...

बहुत ख़ूब, बहुत बढ़िया लिखा है।

--
चाँद, बादल और शाम

Nirmla Kapila said...

dev ji bahut sunder kavita hai aap kaise hain bas likhte rahen aur khush rahen

ARVI'nd said...

bahut achhi kavita padhne ko mila...bahut hi saral shabdo ka prayog kiya hai hai aapne....

Harsh pandey said...

dev ji wonerful
u have writeen very nice

seema gupta said...

तेरी निगाहे जब

धुधेंगी मुझको

धड़कन भी तेरी

जब पूछेगी मुझको ।
" beautiful thoughts and words"

Regards

अल्पना वर्मा said...

यादों के आँचल में

मुझको तुम पाओगे ।

यूं ही नया गीत

गाता मिलूंगा
..........
sach hi to hai,,,yaaden hi rah jaati hain...

sundar kavita Dev.

ilesh said...

यूं ही नया गीत

गाता मिलूंगा

यादों में तेरे मई

हर पल रहूँगा ।

nice one Dev ji....

रश्मि प्रभा said...

यादों के सहारे ही तो जीने का सबब बनते हैं,
बहुत अच्छी रचना........

Harkirat Haqeer said...

तेरी निगाहे जब

धुधेंगी मुझको

धड़कन भी तेरी

जब पूछेगी मुझको ।

कैसे समझाओगे

ख़ुद को बहलाओगे

यादों के आँचल में

मुझको तुम पाओगे ।

Bhot khoob Dev ji....!!

sandhyagupta said...

सुंदर रचना। बधाई।

hempandey said...

'यादों की खुशबू से
मन महकाएँगे '
-सुंदर पंक्तियाँ

महावीर said...

बहुत सुंदर रचना है।
कैसे समझाओगे
ख़ुद को बहलाओगे
यादों के आँचल में
मुझको तुम पाओगे ।
महावीर शर्मा

आशुतोष दुबे "सादिक" said...

बहुत खूबसूरत लिखा है आपने!!

हिन्दी साहित्य .....प्रयोग की दृष्टि से

आशुतोष दुबे "सादिक" said...

मैंने अपने ब्लॉग का पता बदल दिया है। मेरे ब्लॉग का नया पता है :-
http://hindisarita.blogspot.com

sakhi with feelings said...

bahut sundar khyaalo ki abhivaykti ki hai apne...

acha laga padna apko.

*KHUSHI* said...

too good... Devji.. bahut hi sundar kavita hai..

"SURE" said...

beautiful blog and wonderful educational creations Dev....i like it "ii b in touch.

तेरी निगाहे जब

धुधेंगी मुझको

धड़कन भी तेरी

जब पूछेगी मुझको ।
.............its effective poetry,simple words great meanings...thoughtful ..loveful

प्रदीप मानोरिया said...

सुंदर कविता बधाई
मेरे ब्लॉग पर पधार कर "सुख" की पड़ताल को देखें पढ़ें आपका स्वागत है
http://manoria.blogspot.com

SWAPN said...

manoharini rachna. badhaai

Kim Simon said...

This blog is great source of information which is very useful for me. Thank you very much.

BEST LOVE POEMS FOR MOTHER.